देशमध्यप्रदेश

क्रूरता की हद की पार, यूनुस नें बिजनेस साथी को मारकर किए 80 टुकड़े

जंगल से बरामद हुई मृतक की हड्डियां

Realindianews.
मध्य प्रदेश के रीवा जिले के मऊगंज थाना पुलिस ने सनसनी खेज मामले का खुलाशा किया है। 8 माह पूर्व जंगलों में मिले नर कंकाल की गुत्थी सुलझा ली है। पुलिस ने इस गुत्थी को सुलझाते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। साथ ही घटना का खुलासा कर दिया है। यह कंकाल विकास गिरि का है। उसकी हत्या उसके बिजनेस पार्टनर यूनुस अंसारी ने की थी। यूनुस ने आरोप लगाया है कि मृतक विकास गिरि उसकी बहन से छेड़छाड़ करता था। मऊगंज पुलिस को हड्डियों के कई टुकड़े जंगल में मिले हैं। रीवा एसपी नवनीत भसीन ने कहा कि एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है।
एक वर्ष पूर्व निकला था मृतक
पुलिस सूत्र नें बताया कि एक वर्ष पूर्व मृतक युवक घर से निकला था। इसके बाद वह घर नहीं लौटा। जांच के दौरान यह बात सामने आई है कि महिला से छेड़छाड़ के आरोप में दो लोगों ने उसकी हत्या कर दी थी। साथ ही शव को जंगल में फेंक दिया था। हत्या के चार माह बाद पुलिस ने नर कंकाल बरामद किया है। साथ ही एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। 15 नवंबर 2022 को मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि दुधमनिया जंगल स्थित सूनसान जगह पर बने घर में 3 अक्टूबर 2021 की रात छेडख़ानी करने पर युवक की डंडा मारकर हत्या की गई थी।
मृतक के पिता ने दूसरे दिवस थाने में दर्ज कराई थी गुमशुदगी
दूसरे दिन मृतक के पिता ने मऊगंज में गुमशुदगी दर्ज कराई। चार महीने बाद फरवरी 2022 में जंगल से नरकंकाल मिला था। आधार कार्ड देखने पर चरवाहों ने मृतक के पिता को जानकारी दी थी। पिता ने मौके पर पड़े पैंट-शर्ट, वॉलेट और आधार कार्ड देख पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने हत्या का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की और 9 महीने बाद 14 नवंबर 2022 को आरोपियों तक पहुंच गई। गिरफ्त में आए आरोपी ने ब्लाइंड मर्डर की पूरी कहानी पुलिस के सामने उगल दी।
दोनो दोस्त वन विभाग में करते थे ठेकेदारी
दुधमनिया गांव के बाहर जंगल से लगे सुनसान इलाके में अब्दुल मजीद का घर है। उसके बेटे यूनुस अंसारी (31 वर्ष) की दोस्ती ग्राम छुहिया निवासी विकास गिरि (21 वर्ष) से थी। दोनों साथ में वन विभाग में प्लांटेशन आदि की ठेकेदारी करते थे। ऐसे में यूनुस के घर अक्सर विकास का आना-जाना लगा रहता था। यूनुस का आरोप है कि एक बहन के ऊपर उसकी गंदी नजर थी। गांव वालों को भी दोनों के अफेयर की जानकारी थी। इस बात से नाराज होकर आरोपी ने अपने जीजा के साथ मिलकर यह हत्या की थी।
घटनास्थल से पुलिस को मिलीं कई हड्डियां
घटनास्थल की जांच में बिखरी पड़ी हड्डियां बरामद की गईं। प्रथम दृष्टता पुलिस ने भी विकास गिरि का नरकंकाल मानते हुए जांच शुरू की। परिजनों ने बताया कि विकास गिरि ठेका लेकर पौधे लगाने का कार्य करता था। हत्या को लेकर परिजनों ने संदेह जताते हुए पुलिस को कुछ नाम बताए, लेकिन सही नाम नहीं मिले। पुलिस ने गांव में मुखबिर बढ़ाए। साथ ही मृतक के नजदीकी दोस्तों से गोपनीय जानकारी जुटाई। तब कुछ लोगों ने पुरानी घटनाओं का जिक्र किया। साथ ही घूम फिरकर हत्या का आरोप यूनुस अंसारी के घरवालों पर गया, जिनसे कड़ाई से पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button